Home » अमिताभ बच्चन ने कोविड के खिलाफ लड़ाई में अब तक 15 करोड़ रुपये किए दान, बोले- ” आगे भी पीछे नहीं हटूंगा ”
अमिताभ बच्चन ने कोविड के खिलाफ लड़ाई में अब तक 15 करोड़ रुपये किए दान, बोले- '' आगे भी पीछे नहीं हटूंगा ''

अमिताभ बच्चन ने कोविड के खिलाफ लड़ाई में अब तक 15 करोड़ रुपये किए दान, बोले- ” आगे भी पीछे नहीं हटूंगा ”

by Sneha Shukla

मुंबई: बॉलीवुड एक्टर अमिताभ बच्चन कोरोना के खिलाफ लड़ाई में लगातार योगदान दे रहे हैं। वे कोरोना महामारी के खिलाफ देश की लड़ाई में अब तक 15 करोड़ रुपये दान दे चुके हैं। उन्होंने कहा कि, ” अगर जरूरत पड़ रही है, तो वह अपने ‘निजी कोष’ में से और योगदान देने से भी पीछे नहीं हटेगा। ” बच्चन ने ब्लॉग में इस बात की जानकारी साझा की है। अमिताभ ने योगदान की डिटेल शेयर कर अपने उन संपादकों को जवाब दिया है, जो सोशल मीडिया पर देश में कोरोना संकट के समय में प्रसिद्ध हस्तियों द्वारा सहायता नहीं करने का आरोप लगा रहे थे।

हाल ही में दान में 2 करोड़ रु
रविवार रात दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने ट्वीट कर बताया था कि नई दिल्ली के गुरुद्वारा रकाबगंज में श्रीगुरु तेग बहादुर को विभाजित देखभाल केंद्र के लिए अमिताभ बच्चन ने दो करोड़ रुपये दिए हैं। बच्चन ने सोमवार रात को अपने ब्लॉग पर लिखा, ‘वायरस के खिलाफ इस लड़ाई में कई लोगों ने योगदान दिया है और यह जारी रहेगा। वर्तमान में मेरे द्वारा दिल्ली में एक कोविड केयर सेंटर को दो करोड़ रुपये दान किए जाने की जानकारी अधिक सुनाई दे रही हैं। हालांकि, समय गुजरने के साथ मेरे निजी योगदान और दान का आंकड़ा लगभग 15 करोड़ रुपये होगा। ‘

अमिताभ ने यह भी कहा
उन्होंने कहा, ‘निश्चित रूप से ये आंकड़े मेरी क्षमता से परे हैं लेकिन मैंने कार्य और श्रम किया और अपनी कमाई में से ऐसे जरूरतमंद लोगों को सहायता पहुंचाई, जिन्हें इसकी सबसे ज्यादा आवश्यकता थी और ईश्वर की कृपा से यह राशि देने में समर्थ हो गए।’ बच्चन ने कहा कि उनके परोपकारी कार्यों का मकसद इनका लिंगंढोरा पीटना नहीं था।

मशहूर अभिनेता ने कहा, ‘अगर मैं अपने निजी कोष में से और बहुत अधिक योगदान देने लायक हूं तो मैं इसमें शामिल नहीं हूं। यहाँ कई ऐसे साथी और मित्र हैं जोकि वित्तीय रूप से मुश्किल समय से गुजरे हैं। उन्हें भी वित्तीय सहायता देकर परेशानी के भंवर से निकालने का प्रयास किया। ‘ उन्होंने लिखा, ‘यह सब कुछ अन्य लोगों को भी आगे आने वाला और दान करने के लिए प्रेरित कर सकता है।’

विदेशों से खरीदे गए वेंटिलेटर की पहली खेप मुंबई पहुंची
बच्चन ने कहा कि उनके द्वारा विदेशों से खरीदे गए 20 वेंटिलेटर पहुंचने लगे हैं। 10 वेंटिलेटर की पहली खेप मुंबई पहुंच चुकी है और सीमा शुल्क विभाग की निकास अनुमति का इंतजार है। उन्होंने कहा, ‘बुधवार तक इन वेंटिलेटर की आपूर्ति कर दी जाएगी। इनमें से कम से कम चार उन निगम अस्पतालों को दिए जाएंगे, जिन्हें मैंने सिंहित किया है। बाकी छह में से कम से कम चार वेंटिलेटर बृहनमुंगल महानगर पालिका समिति को सौंपे जाएंगे। बाकी के 10 वेंटिलेटर भी 25 मई तक भारत पहुंच रहे हैं और वे भी मेरे द्वारा निर्धारित अलग-अलग स्थानों के अस्पतालों को सूचीबद्ध किया जाएगा। ‘

चिकित्सक ने ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर भी विदेशी कंपनियों से खरीदे हैं जिनकी आपूर्ति जल्द होगी। कोविद महामारी की चपेट में आने के कारण अपने माता-पिता को चुनने वाले बच्चों की शिक्षा और पालन-पोषण की जिम्मेदारी लेने वाले बच्चन ने हैदराबाद के एक अनाथालय से संपर्क किया है।

Related Posts

Leave a Comment