Home » जानिए कोरोना काल में किसानों ने कैसे उपज के सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले, सबसे बड़ा निर्यात हुआ
जानिए कोरोना काल में किसानों ने कैसे उपज के सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले, सबसे बड़ा निर्यात हुआ

जानिए कोरोना काल में किसानों ने कैसे उपज के सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले, सबसे बड़ा निर्यात हुआ

by Sneha Shukla

देश में कीटाणुओं की सतह पर कीटाणुओं की सतह के क्षेत्र में अच्छी खबर होती है। फसल काल में खराब हो गए हैं। उत्पादन में सुधार हुआ है। इस मौसम में 14 मई तक 366.61 मिट्रिक भाग्य वाला और 557.78 लाख मिट्रिक भाग्य वाला मौसम खरीद रहा है।

सरकार की तरफ से जारी है, अप्रैल 2020 से फरवरी 2021 के लिए 2.74 लाख का कारोबार किया गया था, जो शक्तिशाली जैसा था, वैसा ही जैसा था जैसा 2.31 लाख करोड़ रुपये के हिसाब से नया था 18.49% बड़ा हुआ था। . देश में सरसों (गैर बासमती) के मामले में 132 % की वृद्धि हुई है। गैर बासमती चावल 2019-20 के लिए 13,030 अरब डॉलर 2020-21 में 30,277 अरब डॉलर।

30 बढ़ी हुई खरीदारी

हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली और जम्म-कश्मीर में खरीदने की स्थिति में है। मौसम में 282.69 मीटर की हिस्सेदारी के लिए इस मौसम में खरीदने के लिए 14 मई तक 366.61 लाख करोड़ रुपये की हिस्सेदारी खरीद की होगी। चालू रबी विपणन सीजन में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 72,406.11 करोड़ रुपए की खरीद से लगभग 37.15 लाख किसान लाभान्वित हुए हैं। बैक्टीरिया की ओर से दिखने वाले व्यक्ति ने इसे खरीदा था।

1.11 करोड़ किसान संकटग्रस्त

14 मई तक कुल 742.41 लाख खरब से अधिक धान खरीद के साथ ख़रीफ़ के मौसम 2020-21 में ख़रीदने योग्य धान ख़रीदने से जारी है। बहुत ही समय में 687.24 लाख करोड़ डॉलर की खरीदारी की थी। कंट्रास्ट खरीफ उत्पादों की खरीद के लिए उत्पादन के लायक कीमत पर 1,40,165.72 अरब डॉलर की खरीद से किसानों को 1.11 करोड़ अरब डॉलर मिलेंगे।

यह भी आगे-

लॉकडाउन: दिल्ली-यूपी में सबसे अधिक जानकारी के लिए, एक क्लिक में पढ़ें

निर्णय पर फैसला का फैसला, कोविशीद की देनदारी के लिए भुगतान किया जाता है। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

.

Related Posts

Leave a Comment