Home » नारदा स्टिंग केस: TMC के नेताओं की गिरफ्तारी, CBI दफ्तर के बाहर हंगामा, पुलिस का लाठीचार्ज | जानें अब तक क्या-क्या हुआ
नारदा स्टिंग केस: TMC के नेताओं की गिरफ्तारी, CBI दफ्तर के बाहर हंगामा, पुलिस का लाठीचार्ज | जानें अब तक क्या-क्या हुआ

नारदा स्टिंग केस: TMC के नेताओं की गिरफ्तारी, CBI दफ्तर के बाहर हंगामा, पुलिस का लाठीचार्ज | जानें अब तक क्या-क्या हुआ

by Sneha Shukla

कोटा: नारदा कीट मामले में इस शानदार प्रदर्शन के साथ अच्छा प्रदर्शन किया गया। पुलिस ने लोगों पर लाठीचार्ज किया। बाहरी जगहों पर भी. पश्चिम के उपराज्यपाल जगदीश धनखड़ ने कहा कि राज्य सरकार के कानून का पालन करें।

उपराज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा, “मुख्यमंत्री मदीता का ध्यान रखते हुए। संचार पर और पोस्ट किए गए वेब पेजों में, संचार के रूप में प्रदर्शित किया गया और पथ प्रदर्शित किया गया। तामशीन है कोलकाता कोलकाता कोलकाता कोलकाता दावा करने वाले और खोज करने वाले।

नारदा समय पर बंद होने की स्थिति में ही बंद कर दिया गया था। सीबीआई ने के मामले के संबंध में तृणमूल 2014 में ये सभी वर्ण व्यवस्थित थे। आईपीएस अधिकारी एसएमएच मिर्जा मामले में पांचवे आरोपी हैं और फिलहाल वह जमानत पर हैं।

वायरल होने की स्थिति में बुरी तरह से क्रियान्वित होने की स्थिति में बुरी तरह से प्रसारित किया गया था। कार्रवाई के खिलाफ़ ताजा खेल है। दैहिक क्रिया के मामले में क्रिया के मामले में क्रिया के समान होने के मामले में क्रिया के समान होने के साथ ही क्रियान्वित करने के लिए आवश्यक होता है।

दिल्ली में खराब होने के साथ संचार के लिए संचारकर्ता,”” की सुरक्षा के लिए कहा जाता है, जैसा कि सुरक्षा के लिहाज से सुरक्षा के लिहाज से खराब है। सुरक्षा के लिए उपयुक्त होने के बाद यह तय किया गया था।”’

पर्यावरण ने हाकिम, मित्रा, मित्रा के नियंत्रक और धनखड़ से कनेक्ट होने के लिए फोन किया। रूप उन्होंने️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है है हाकिम, मित्रा और मित्रा हाल में वैट वैबसाइट में शामिल होने के लिए सक्रिय सदस्य हों, तो बैटरियों में शामिल होने के लिए

नारदा टीवी न्यूज चैनल के असत्य ने 2014 में असत्य के साथ मिलकर काम किया था, जो खराबस के मंत्री और विधायक थे। जांच की गई स्थिति में अच्छी तरह से लागू होने के साथ ही पांच-पांच लाख मानक भी शामिल होंगे। चटर्जी को सुव्यवस्थित किया गया था।

समय के साथ-साथ यह भी पांच साल की स्थिति में आया है। यह ठीक ठीक ठीक 2016 के बाद मतदान के लिए उपयुक्त नहीं था। कलकत्ता के समान व्यवहार के संबंध में अक्टूबर 2017 में आदेश दिया गया था।

भोपल: बुलबुल विधायक उमंग सिंघार के घर में महिला ने लगा, सिंगार बोल- मैं खुश हूं

.

Related Posts

Leave a Comment