Home » संपत्ति के लिए बेटे ने ली मां-बाप की जान, गले पर निशान देखकर पुलिस ने पूछा तो कहा- कोरोना से हुई मौत
DA Image

संपत्ति के लिए बेटे ने ली मां-बाप की जान, गले पर निशान देखकर पुलिस ने पूछा तो कहा- कोरोना से हुई मौत

by Sneha Shukla

कैपिटल में एक बुढ़िया दंपत्ति की हत्या कर दी। घटना रामकृष्णनगर थानांर्गत शिवाजी चौक के समीप की है। गुरुवार की दोपहर इसका खुलासा होने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने तफ्तीश शुरू कर दी। मृतक की पहचान 70 वर्षीय किशोर प्रसाद और उनकी पत्नी 65 वर्षीय कमल लता देवी के रूप में की गई है। दोनों के गले पर जख्म के निशान हैं।

एसपी सिटी पूर्वी जितेंद्र कुमार के मुताबिक इस मामले की छानबीन के दौरान पुलिस ने मृतक के बेटे को हिरासत में लिया है। रोग की जा सकता है। यह गलत तरीके से होता है। हाथ में जख्म के निशान और कपड़े पर खून के धब्बे मिले हैं। शवास को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। किशोर प्रसाद पेशे से हाई स्कूल में फिजिकल इंस्ट्रक्टर थे। बेटे के साथ उनका कुछ संपति विवाद चल रहा था। उनके साथ उनका बेटा रंजीत कुमार उर्फ ​​निप्पू, बहु व पोता रहता है। रंजीत प्राइवेट है।

अंतिम विवाह हो सकता है
शिक्षक का बेटा अपनी मां और पिता की मौत की खबर किसी को नहीं दी थी। शरीर को भी पानी से साफ करो। जब एक साथ पति-पत्नी की मौत की खबर आसपास के लोगों को मिली तो उन्हें शंका हुई। तब तक रंजीत अंतिम संस्कार की प्रतिक्रिया था। वह अपने माता-पिता के शव को लेकर बाहर निकलने ही जा रहा था कि तब तक पुलिस पहुंच गयी। इसके बाद रंजीत घबरा गया।

पुलिस से कहा- मां-पिता को कोरोना हो गया था
जब पुलिस ने रंजीत से मां-पिता की मौत का कारण पूछा तो उसने कहा कि दोनों कोरोना हो गए थे। जांच-पड़ताल करने वालों ने इस खबर को पूरा किया। रंजीत उसे नहीं दिखा रहा है। पुलिस को उस पर हुआ और अंत में जांच दल उसे थाने ले आयी।

किशोर प्रसाद के भतीजे सोनू ने बताया कि रंजीत ने मुझे सूचना दी कि पापा और मां की कोराना से मौत चली गई है। जब मैं आया तो जल्दी-जल्दी में अंतिम संस्कार की तैयारी में लगा हुआ था। साथ ही सोनू ने यह भी कहा कि जब हमलोगों ने रंजीत से सख्ती से पूछताछ की तो उसने कहा कि सुबह मां-पिता को उठाने आया तो देखा पिता दूसरी जगह मृत कमरे में पड़े हैं और मां दूसरी ओर हैं। रंजीत के मुताबिक इसके बाद उन्होंने अपने घर वालों को खबर दी। स्थानीय लोगों के मुताबिक उन्होंने बुधवार तक किशोर को देखा था। वे स्वस्थ थे।

संपति को लगातार जारी रखना
जांच के दौरान यह बात सामने आई है कि रंजीत ने हाल ही में कुछ संपत्ती की बिक्री कर दी थी। कुछ को अपने नाम करवा लिया था। बेटी की शादी के लिए उसने कुछ संपति रहित रखी थी। पिता इन सभी बातों का विरोध कर रहे थे। अक्सर उसके घर में परिवार कलह होता था। एक ही घर में रहने के बावजूद मामन-पिता का खाना अलग हो गया था। पेंशन पेंशन भी रंजीत को मिलेगी। कुछ दिन पहले किशोर ने अपने बेटे रंजीत के खिलाफ रामकृष्णनगर नगर थाने में मामला दर्ज करवाया था।

संबंधित खबरें

Related Posts

Leave a Comment