Home » IAS Success Story: हाईस्कूल के बाद UPSC में जाने का मन बनाया, सटीक रणनीति और कड़ी मेहनत की बदौलत पहले प्रयास में वैभव बने आईएएस
IAS Success Story: हाईस्कूल के बाद UPSC में जाने का मन बनाया, सटीक रणनीति और कड़ी मेहनत की बदौलत पहले प्रयास में वैभव बने आईएएस

IAS Success Story: हाईस्कूल के बाद UPSC में जाने का मन बनाया, सटीक रणनीति और कड़ी मेहनत की बदौलत पहले प्रयास में वैभव बने आईएएस

by Sneha Shukla

IAS टॉपर वैभव गोंडेन की सफलता की कहानी: आज आपको यूपीएससी परीक्षा 2018 में ऑल इंडिया ग्रेड 25 प्राप्त कर आईएएस अफसर बनने वाले वैभव गोंडाने की कहानी बताएंगे, जिन्होंने महज 22 साल की उम्र में अपना लक्ष्य हासिल करके सपना पूरा किया। उनकी रणनीति पहले प्रयास में प्रभावी रही और उन्होंने यूपीएससी परीक्षा पास कर ली। खास बात यह रही कि उन्होंने अपना लक्ष्य हाईस्कूल के बाद ही निर्धारित कर लिया। ऐसे में उन्होंने बहुत पहले ही यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी थी, जिसका फायदा उन्हें परीक्षा के दौरान हुआ।

मजबूत आवश्यक है

मूल रूप से महाराष्ट्र के पुणे के रहने वाले वैभव का मानना ​​है कि यूपीएससी में आने के पीछे हर किसी का एक मोटिवेशन होता है। ज्यादातर लोग यहां देश सेवा का सपना लेकर आते हैं। अगर आपके दिमाग में भी कुछ इस तरह का मोटिवेशन है तो आप यूपीएससी की परीक्षा के लिए लंबे समय तक मेहनत कर सकते हैं। जो लोग यहां बंगला, गाड़ी और रुतबे को देखकर आते हैं, वह कुछ महीनों बाद ही इस यात्रा को खत्म कर देते हैं। उनका मानना ​​है कि यदि आप यहां आते हैं तो उसके पीछे मजबूत कारण होना चाहिए।

सिलेबस को डिवाइड कर लें

वैभव का मानना ​​है कि आप यूपीएससी की तैयारी के लिए अपने सिलेबस को दो भागों में बांट लें। पहला भाग रीडिंग और दूसरा भाग रीज़निंग के लिए रखें। कुल मिलाकर आप समान समय दोनों चीजों को करेंगे तो आपकी तैयारी बेहतर होगी। इस परीक्षा के लिए रिडिंग और रिडिंग दोनों काफी आवश्यक हैं। इसके अलावा आप किताबों से हटकर आसपास की चीजों पर भी ध्यान रखें। करंट अफेयर्स के बारे में पूरी जानकारी रखें।

यहां देखें वैभव का दिल्ली नॉलेज ट्रैक को दिया गया इंटरव्यू है

अन्य कैंडिडेट्स को वैभव की सलाह

वैभव का मानना ​​है कि यूपीएससी के लिए आप लिमिटेड किताबों के साथ तैयारी करेंगे तो आपके पास रिवीजन करने का काफी लंबा बचेगा। इसके अलावा आप आंसर रिडिंग, मॉक टेस्ट पेपर देकर तैयारी का विश्लेषकों को भी कर रहे हैं। प्रतिदिन न्यूजपेपर पढ़ें और आसपास हो रही घटनाओं के बारे में जागरूक रहें। अगर आप इन सब बातों का ध्यान रखेंगे तो यूपीएससी में सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: IAS सक्सेस स्टोरी: ग्रेजुएशन के बाद यूपीएससी की तैयारी की, उम्र कम होने की वजह से एक साल का इंतजार, दूसरे प्रयास में शिवानी बनीं टॉपर

शिक्षा ऋण जानकारी:
शिक्षा ऋण ईएमआई की गणना करें

Related Posts

Leave a Comment