Home » Sita Navami 2021: कब रखा जाएगा सीता नवमी व्रत? शुभ फलों की प्राप्ति के लिए इस विधि से करें भगवान राम और माता सीता की पूजा
DA Image

Sita Navami 2021: कब रखा जाएगा सीता नवमी व्रत? शुभ फलों की प्राप्ति के लिए इस विधि से करें भगवान राम और माता सीता की पूजा

by Sneha Shukla

सीता नवमी इस साल 21 मई को… वैशाख माह के शुक्लक्ल्स की तारीख तारीख को मिशन के कीटाणु सक्रिय होते हैं। इस जानकी नवमी के नाम से भी यह मरा है। सीता नवमी के दिन सुहागिनें राम और माता-पिता विधि-विधान से पूजा की पूजा करते हैं। यह तय करने से घर में सुख-शांति और पति को आयु प्राप्त होती है।

सीता नवमी 2021 का शुभ मुहूर्त-

20 मई को 12 बजकर 25 तारीख को नवमी तिथि जो दिनांक 21 मई को 11 बजकर 10 पर समाप्त होगी।

वैभव लक्ष्मी भक्त की ये पूजा विधि, माँ लक्ष्मी की पूजा में ध्यान देने योग्य वस्तु

सीता नवमी के दिन ये पूजा के शुभ मुहूर्त-

मुहूर्त- 03:36 ए एम, मई 22 से 04:18 ए एम ब्रह्म, मई 22 तक।
अभिजित मुहूर्त- 11:18 ए एम से 12:12 पी एम तक।
विजय मुहूर्त- 01:59 पी एम से 02:53 पी एम तक।
गोधूलि मुहूर्त-06:15 पी एम से 06:39 पी एम तक।
अमृत ​​काल- 09:08 ए एम से 10:42 ए एम तक।
निशिता मुहूर्त- 11:23 पी एम से 12:06 ए एम, मई 22 तक।
सूर्य योग- पूरे दिन

गरुड़ पुराण के हिसाब से, 7 बजे देखें और शुभ फल

माता सीता की ऐसी पूजा-

स्नान के बाद घर में दीपक जलाएं।
दीपक के बाद व्रत का संकल्प लें।
मंदिर में दुआ करवाएं।
गोकू राम और सीता का ध्यान।
अब विधि-विधान से माता सीता और राम की पूजा करें।
माता सीता की आरतीं।
अबू राम और माता सीता को भोग-विलास।

संबंधित खबरें

.

Related Posts

Leave a Comment