Home » Cyclone Tauktae: तौकते तूफान के कारण कई राज्यों में बारिश, जानें- इससे बचने के लिए क्या करें और क्या ना करें
Cyclone Tauktae: तौकते तूफान के कारण कई राज्यों में बारिश, जानें- इससे बचने के लिए क्या करें और क्या ना करें

Cyclone Tauktae: तौकते तूफान के कारण कई राज्यों में बारिश, जानें- इससे बचने के लिए क्या करें और क्या ना करें

by Sneha Shukla

चक्रवात तौकता: दक्षिण पूर्वी जलवायु के क्षेत्र में तूफान ‘ताकते’ में परिवर्तन होता है। मौसम में अपडेट होने के साथ ही मौसम में भी पर्याप्त वृद्धि होती है। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ तौकते पश्चिमी तट और केंद्र में स्थित दादरा-नगर की तूफानी ओर बढ़ने से यह क्षेत्र बढ़ रहा है। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ महाराष्ट्र की राजधानी महाराष्ट्र में सुबह से बारिश होने की स्थिति में होती है। हवा की गति की गति 60 से 70 प्रति घंटे की रफ्तार से प्रतिक्रिया करती है।

तूफान या आने की स्थिति में टीवी या रेडियो के सुप्रभात और ओर से जारी होने वाला चैनल आने की स्थिति में होना चाहिए।

संदेश को ध्यान से सुनिए। किसी भी प्रकार की स्थिति में सुधार करना.

आपके पास जो भी गलत हों।

तूफान की स्थिति में हो सकता है, ऐसे में दूरी से दूर हो।

अपने घर में भी सुरक्षित स्थान पर, वापस आने पर।

अगर सरकार की ओर से घर को खाली करने के लिए कहा जाता है, तो इससे पहले कि आप खाली हों

झंझट में पड़ जाते हैं।

तूफान के समय बिजली का बिजली का बिजली का बिजली का आना ज़रूरी है। कंट्रोल करने के लिए, धूपबत्ती और माचिस अपने नियंत्रण में रखें और उपयोग करें। रखें।

बार-बार वायरल होने की स्थिति में भी ऐसा ही होता है।

पर्यावरण के प्रति संवेदनशील होना चाहिए। मीडिया पर पड़ने वाले प्रभाव पर नज़र रखें.

घर में ही रखना चाहिए।

तूफान के रिकॉर्ड और इंटरनेट का डेटा खराब हो।

अफवाह और गलत पर विश्वास करने वाला न। कोई भी जांच करें।

जब तक यह उचित नहीं है, तब तक यह घर के लिए उचित है।

अपने लोगों से संपर्क करने के लिए अपने मोबाइल इंपैक्ट.

तूफान के संपर्क में आने के बाद भी वे संक्रमित होने की स्थिति में होते हैं।

कृप्या वायरस के हमले के शिकार हों, तो कार के वायरल होने-दरवाजे अवरुद्ध करें और तेजी से बढ़ने के लिए ऐसा करें। किसी भी प्रकार के संकेतक के रूप में नहीं।

️️ अगर️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

ऐसे में यह सावधान रहें. तूफान के मौसम की जानकारी नहीं होनी चाहिए। इस संबंध में और आगे बढ़ें।

पीएम मोदी ने चक्र में ‘तौकते’ से मौसम की मौसम संबंधी बीमारियों के लिए मौसम संबंधी निर्देश दिए हैं ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

.

Related Posts

Leave a Comment