Home » क्रेडिट कार्ड बाजार पर भी कोरोना की मार, फरवरी में जारी होने वाले कार्ड में भारी कमी 
क्रेडिट कार्ड बाजार पर भी कोरोना की मार, फरवरी में जारी होने वाले कार्ड में भारी कमी 

क्रेडिट कार्ड बाजार पर भी कोरोना की मार, फरवरी में जारी होने वाले कार्ड में भारी कमी 

by Sneha Shukla

<पी शैली ="पाठ-संरेखित करें: औचित्य;"> कोरोना संक्रमण लोगों के खर्च करने की क्षमता पर जबरदस्त असर डाला गया है। यही कारण है कि नए क्रेडिट कार्ड इश्यू करने की कोशिश बेहद कम हो गई है। फरवरी में देश में सिर्फ 5.49 लाख नए क्रेडिट कार्ड जारी हुए हैं। जो फरवरी, 2020 की तुलना में 47 प्रति कम है। वहीं फरवरी (2021) में जनवरी (2021) की तुलना में नए क्रेडिट कार्ड 21.57 प्रति कम जारी किए गए। & nbsp;

आईसीआईसीआई बैंक नए कार्ड जारी करने में & nbsp; सबसे आगे और nbsp;

="पाठ-संरेखित करें: औचित्य;"> हालांकि दिसंबर 2020 में & nbsp; जो नए क्रेडिट कार्ड इसू हुए उनमें 70 प्रति हिस्सा आईसीआईसीआई बैंक की थी। इस महीने में ऑफलाइन प्लेटफॉर्म में तकनीकी गड़बड़ियों की वजह से आरबीआई ने एचडीएफसी पर नए कार्ड जारी करने पर प्रतिबंध लगा दिया था। लेकिन जनवरी 2021 और nbsp; आईसीआईसीआई बैंक की ओर से जारी क्रेडिट कार्ड में 38 प्रतिशत की गिरावट आ गई। फरवरी (2021) में कुल एसबीआई की ओर से क्रेडिट कार्ड में 18 और एक्सिस बैंक की ओर से जारी कार्ड में 18.1 प्रतिशत की गिरावट आई। वित्त वर्ष 2020-21 में क्रेडिट कार्ड मार्केट में सबसे अधिक और nbsp; भाग आईसीआईसीआई बैंक की वृद्धि हुई है। इसका हिस्सा 32.4 फीसदी बढ़ गया। इसके बाद एसबीआई की 30.6 फीसदी बाजार हिस्सेदारी बढ़ी। & nbsp;

एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक, सिटी बैंक की भागीदारी घटी और nbsp;

="पाठ-संरेखित करें: औचित्य;"> फरवरी 2020 की तुलना में फरवरी 2021 में क्रेडिट कार्ड से किए जाने वाले खर्चे में 4 प्रति की गिरावट आई और यह गिर कर 60,400 करोड़ पहुंच गई। नवंबर से फरवरी के बीच में 18 फीसदी की गिरावट आई और यह गिर कर 5.6 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गई। एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक, सिटी बैंक, कोटक महिंद्रा। अमेरिकन एक्सप्रेस और स्टैंडर्ड चार्टेड बैंक की क्रेडिट कार्ड बाजार में भाग घटी है। & nbsp;

कोरोना की मार से गाड़ियों की बिक्री पर जबरदस्त ब्रेक लगने की आशंका, ये आंकड़े हैं

हाउर मोटोकॉर्प एक सप्ताह बंद रखेगी अपना प्रोडक्शन, ट्रांसपोर्ट से कर्मचारियों को बचाने की कोशिश

& nbsp;

Related Posts

Leave a Comment