Home » ITI electrician subject in hindi – ITI electrician में कितने subject होते हैं ?
ITI electrician subject in hindi

ITI electrician subject in hindi – ITI electrician में कितने subject होते हैं ?

by Pritam Yadav

ITI electrician subject in hindi :- यदि आप ITI electrician का कोर्स करना चाहते हैं और उसके बारे में जानकारी लेना चाहते हैं तो स्वागत है इस post में दोस्तों आज का इस नये आर्टिकल में हम लोग ITI electrician course से जुड़ी काफी जानकारियों को जानेंगे।

जैसे ITI Electrician me kitne subject hote hai और ITI Electrician subjects Books और  सिलेबस क्या होता है। तो चलिए अब post को शुरू करते हैं और ITI electrician subject in hindi की पूरी डिटेल्स जानते हैं।


ITI electrician में कितने subject होते हैं ? | ITI electrician subject in hindi

ITI Electrician में पांच subject होते है, तो चलिए जानते हैं ITI Electrician subject list को :-

  1. Electrician trade theory
  2. Electrician trade practical
  3. Workshop Calculation and science
  4. Engineering drawing
  5. Employability skills

ITI electrician subject in hindi

1. Electrician trade theory

ITI सभी पांच विषय में यह Electrician trade theory विषय काफी महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि इस विषय में आपको पूरे ITI Electrician  की Technology की नॉलेज दी जाती है।

इस विषय के दौरान आपको टेक्नोलॉजी फील्ड की सभी जानकारी दी जाती है किसका क्लास 1 क्लास रूम के अंदर का लगाया जाता है जिसमें शिक्षक आपको बोर्ड पर सब chapter को विस्तार से समझाते हैं।

हालांकि इस विषय में प्रैक्टिकल नहीं करवाया जाता है लेकिन इसका मतलब नहीं है कि ITI में प्रैक्टिकल नहीं करवाए जाते हैं। बल्कि दूसरे विषय में जाता है।

2. Electrician trade practical

ITI के Electrician trade थ्योरी के विषय में जितने भी subject आपको पढ़ाए जाते हैं उन सभी subject के थ्योरी का practical इन विषय में कराया जाता है।

इस विषय में आपको workshop में ले जाकर पिछले पढ़ाई गए subject के सभी चैप्टर के थ्योरी का practical करवाया जाता है ताकि बच्चे के मन में किसी भी प्रकार का डाउट और कन्फ्यूजन ना रहे। तथा स्किल भी अच्छे से develop हो।

इन Electrician trade विषय में बच्चों को बहुत ही ज्यादा Practical करवाया जाता है ताकि आगे के समय में सभी स्टूडेंट सरकारी नौकरी की तलाश के साथ-साथ अपना खुदा व्यवसाय या व्यापार शुरू कर सके। तो चलिए जानते हैं, कि आईटीआई में प्रैक्टिकल क्या करवाया जाता है।

क्या प्रैक्टिकल करवाया जाता है ?

इस सब्जेक्ट में आपको किसी भी मोटर या  जरनैटर की मरम्मत करना या उसकी कोयल की वाइंडिंग करना या ट्रांसफार्मर का वायरिंग करना इत्यादि प्रैक्टिकल करवा कर बताया जाता है।

तथा इसमें पंखा को रिपेयर करना तथा उस कोयल की वाइंडिंग करना बताया जाता है  इसके अलावा और भी कई सारे इलेक्ट्रिक इक्विपमेंट्स को मरम्मत करना सिखाया जाता है।

3. Workshop Calculation and science

आईटीआई के इस विषय में आपको इलेक्ट्रीशियन से जुड़े गणित की शिक्षा दी जाएगी। क्या आपको जानकारी के लिए बता दें कि यहाँ दोनों प्रकार की गणित हो सकते हैं यानी कि एक वह गणित जो कि साधारण हम लोग पढ़ते हैं और दूसरा वह जो फिजिक्स के नियम पर चलता है।

मतलब कि यह वह गणित होता है जो फिजिक्स के कल कुलेशन में शामिल होता है जो की इलेक्ट्रॉनिक्स या इलेक्ट्रिकल जुड़ी होती है। जैसे voltage, cut power, resistance, इत्यादि जैसे सवाल होते हैं जिसका उपयोग करके एक नई मशीन को ठीक किया जाता है उन सब चीजों को इस सब्जेक्ट में सिखाया जाता है।

4. Engineering drawing

इंजीनियरिंग ड्रॉइंग विषय आईटीआई का सबसे दिलचस्प और मजेदार विषय होता है कुछ स्टूडेंट को यह विषय काफी पेचीदा लगता है वही कुछ स्टूडेंट को यह विषय काफी अच्छा लगता है।

आईटीआई के इस सब्जेक्ट में स्टूडेंट को ड्राइंग करना सिखाया जाता है ध्यान रखें हम उस दिन की बात तो नहीं कर रहे हैं, जो कि आप लोग अपने बचपन में बनाते थे, बल्कि किस सब्जेक्ट में उस ड्राइंग को बनाया जाता है जो कि मशीन से जुड़ा हो जैसे मशीन का बाहरी हिस्सा का ड्राइंग बनाकर स्टूडेंट को समझाया जाता है।

यदि हम उदाहरण की बात करें तो मान लीजिए कि आपको एक ट्रांसफार्मर बनानी है तो सबसे पहले आपको ड्रॉइंग बनाना होगा और  उस डिजाइन में आपको समझाना होगा कि उस ट्रांसफार्मर में कौन सा part कहां पर लगेगा।

तथा उस ट्रांसफार्मर में कितना बड़ा कोयल डाला जाएगा और वह ट्रांसफार्मर में कहां डाला जाएगा। इन सभी कंफ्यूजन को सबसे पहले ड्राइंग के मदद से बना लिया जाता है उसके बाद ही ट्रांसफार्मर को बनाने का काम किया जाता है।

एक ड्राइंग के बिना किसी भी मशीन को बनाना काफी मुश्किल होता है क्योंकि यदि मशीन बनाने से पहले उसकी ड्राइंग तैयार की जाए तो  पहले ही पता चल सकता है, कि उसमें लगने वाली सभी पार्ट्स की साइज कितनी बड़ी होगी, और कौन सा पार्ट कहां फिट होगा।

इसीलिए किसी भी मशीन को बनाने से पहले उसकी 3D ड्रॉइंग या इमेज तैयार की जाती है चाहे वह पेपर पर हो या किसी कंप्यूटर के द्वारा तैयार किया गया हो।

5. Employability skills

आईटीआई के इस विषय के अंदर और स्टूडेंट के मानसिक विकास पर ध्यान दिया जाता है और उस बच्चे को पर्सनल डेवलपमेंट स्किल जैसे कि  कम्युनिकेशन स्किल, प्रेजेंटेशन स्किल और  इंटरव्यू के बारे में सिखाया जाता है, ताकि कोई भी स्टूडेंट आ गए इंटरव्यू देने जाए तो वह अच्छे से सभी सवाल का उत्तर दें और इंटरव्यू पास करें।

आईटीआई के सभी विषयों की तरह या विषय भी काफी महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि इस विषय में अच्छा से पढ़ाई करने के बाद ही किसी भी स्टूडेंट को अच्छी जॉब में सिलेक्शन होता है।


FAQ,s

Q1. ITI Electrician subjects Books

Ans :- ITI Electrician के तीन सबसे महत्वपूर्ण बुक कुछ इस प्रकार हैं:- 1. Electrician Theory, 2. Workshop calculation and science, 3. Emplobiality Skill

Q2. ITI electrician subject in hindi

Ans :- दोस्तों यदि आपको नहीं पता है कि आईटीआई इलेक्ट्रीशियन में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं तो हम आपको बता दें कि ITI Electrician कुल 4 विषय होते हैं जिनका नाम है:- Electrician trade theory, Electrician trade practical, Workshop Calculation and science, Engineering drawing, Employability skills.

Q3. इलेक्ट्रीशियन कोर्स कितने साल का होता है ?

ITI Electrician का कोर्स 2 साल का होता है जिसमें कुल 4 सेमेस्टर होते हैं।

[ अंतिम विचार ]

दोस्तों अब हमें उम्मीद है, कि अब आपको ITI electrician course or ITI electrician subject in hindi से जुड़ी सभी जानकारी मिल चुके होगी और आप जान चुके होंगे कि ITI electrician में कितने subject होते हैं ?

क्योंकि हमने इस लेख में ITI Electrician subject list दिया है जिससे आपको आसानी से पता चल गया होगा ITI Electrician subject Details के बारे में, तो दोस्तों इसके साथ चलिए पोस्ट को यहीं पर समाप्त करते हैं.. धन्यवाद


Read Also :-

Related Posts

Leave a Comment